समुद्र में बह रहे आॅयल टैंकर जहाज को मदद

अंडमान सागर में बह रहे आॅयल टैंकर जहाज एम.टी. अनस्तासिया-एक को कोस्टगार्ड ने सुरक्षित तरीके से सहायता पहुंचाई। यह टैंकर 24 नाविकों के साथ दुबई जा रहा था।
जानकारी के मुताबिक 19 नवम्बर को इस जहाज में पाॅवर फेलियर हो गया। पाॅवर फेनियर होने से यह जहाज निकोबार द्वीप के निकट समुद्र में बिना किसी नियंत्रण के तैर रहा था। आॅयल टैंकर से निकलने वाले पदार्थ से निकोबार द्वीप की जैव पारिस्थितिकी को खतरा बना हुआ था। टैंकर में लगभग नौ सौ मीट्रिक टन से अधिक बंकर फ्यूल मौजूद था। इसकी जानकारी एमआरसीसी पोर्ट ब्लेयर को दी गई। जानकारी के बाद मर्चेंट मरीनर्स को सतर्क करने के लिए इंटरनेषनल सेफ्टी नेट को सक्रिय किया गया और परिस्थिति के मूल्यांकन के लिए कैम्पबेल बे से तटरक्षक जहाज को मौके पर भेजा गया। निकोबार द्वीप के समुद्र में नियमित निगरानी कर रहे तटरक्षक जहाज विष्वस्थ को भी डायवर्ट किया गया। भारतीय तटरक्षक जहाज के बोर्डिंग टीम ने टैंकर पर जाकर फ्लीट ब्राॅडबैंड कम्यूनिकेषन इक्यूपमेंट की मरम्मत की और उसे आॅटोमैटिक आईडेंटिफिकेषन सिस्टम आॅपरेषनल योग्य बनाया। टैंकर की एंकर चेन केबल्स को भी संचालन योग्य बनाया गया। तटरक्षक जहाज ने दो सौ तैंतालिस मीटर लम्बी टैंकर को खीचकर सुरक्षित तरीके से सेफ वाटर में पहुंचाया। तटरक्षक की त्वरित कार्रवाई से अंडमान सागर में होने वाली तेल रिसाव के खतरे से यहां की समुद्री संपदा को बचाया गया।

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Related posts

Leave a Comment